Daily Calendar

मंगलवार, 6 अगस्त 2013


किसे कहे, कौन सुने, अपनी जज्बात को   क्यूंकि  अब हमारी आवाज में ओ गुरगार्राहत  नहीं,
लगा दिए हैं  पावंदी  हमारी अभिवयक्ति पर, खामोश हूँ, पर यह भी सच नहीं  कि  दिल में कर्वाहत नहीं।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें